Gandhi Ji Ka Jivan Parichay | जानिए गांधी जी के जीवन से जुड़ी खास बातें

Admin
0

mahatma gandhi
 

Gandhi Ji Ka Jivan Parichay |  जानिए गांधी जी के जीवन से जुड़ी खास बातें

Mahatma Gandhi biography in Hindi:महात्मा गाँधी का जन्म २ अक्टूबर १८६९ को गुजरात में हुआ।  महात्मा गाँधी का पूरा नाम मोहनदास करम चंद गाँधी था। महात्मा गाँधी को भारतीय स्वतन्त्रा आंदोलन के प्रमुख राजनेता के तौर पे जाना जाता है। महात्मा गाँधी ने अंग्रेज़ो के अत्याचारों से लड़ने के लिए सत्याग्रह की नींव की। उनकी यह नींव पूर्णता अहिंसा के सिद्धांत पे आधारित थी। गाँधी जी ने  भारत को स्वतन्त्रा दिलाने के लिए बोहोत संघर्ष किया,यहाँ  तक की महात्मा गाँधी को कई बार जेल भी जाना पड़ा था। महात्मा गाँधी के स्वतन्त्रा दिलाने के संघर्ष को देखकर अनेको युवा प्रेरित भी हुए। महात्मा गाँधी को राष्ट्रपिता भी कहा जाता है ,उन्हें यह दर्जा सुभाष चंद्र बोसे द्वारा दिया गया था । आज में इस आर्टिकल में महात्मा गाँधी के जीवन के बारे में चर्चा करेंगे। 


 

Early life,Family and Education। प्रारंभिक जीवन,परिवार और शिक्षा।



मोहनदास करम चंद गाँधी का जन्म गुजरात के तटीय सहर पोरबंदर में सन २ अक्टूबर १८६९ हुआ था। महात्मा गाँधी के पिता का नाम करमचंद गाँधी था। उनके पिता ब्रिटिश राज में एक छोटी सी रियासत पोरबंदर के दीवान थे। महात्मा गाँधी की माता का नाम पुतलीबाई परनामी था। वे एक वैस्य समुदाय से सम्बन्ध रखती थी। पुतलीबाई करमचंद गाँधी की चौथी पत्नी थी। उनकी पहली तीन पत्नियों की  प्रसव के दौरान मृत्यु हो गयी थी। 



गाँधी जी का विवाह १४ वर्षा की आयु में ही कस्तूरबा गाँधी से हो गया था। उनका ये विवाह उनकी माता पिता की इच्छा से हुआ था। उस समें बाल विवाह बोहोत प्रचलित था। गाँधी जी का शादी के कुछ समय बाद ही उनके पिता करमचंद गाँधी की मृत्यु हो गयी। 



गाँधी जी ने पोरबंदर से मिडिल और राजकोट से हाई स्कूल किया। महात्मा गाँधी एक साधारण छात्र थे। उन्होंने ने मेट्रिक के बाद की शिक्षा भावनगर के शामलदास कॉलेज से प्राप्त की। उनके परिवार वाले उन्हें बैरिस्टर बनाना चाहते थे। गाँधी जी यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन से कानून की पढाई करने और बैरिस्टर बनने के लिए इंग्लैंड चले गए। कानून की शिक्षा प्राप्त करने के बाद गाँधी जी भारत लौट आये और यह भारतीयों के लिए वकालत  करने लगे लेकिन उन्हें यहाँ कुछ खास सफलता प्राप्त नहीं हुई इसलिए गांधीजी साउथ अफ्रीका वकालत करने के लिए चले गए जो उस समैन ब्रिटिश साम्राज्य का ही हिस्सा था। 



महात्मा गाँधी को साउथ अफ्रीका में भेदभाव का सामना भी करना पड़ा था। उन्हें प्रथम श्रेणी कोच के डिब्बे का टिकट होते हुए भी ट्रैन से बहार फेक दिया गया था। उन्हें कई होटलो में जाने से वर्जित करदिया गया। यही नहीं उन्हें न्यायाधीश द्वारा अपनी पगड़ी उतारने को खा लेकिन गाँधी जी ने नहीं माना। ऐसी बोहोत सी  घंटनाओ ने गाँधी जी के मन पर बोहोत गहरा प्रभाव डाला और समाज में हो रहे अन्याय के प्रति जागरूकता का कारण बनी। समाज में हो रहे ब्रिटिश साशको द्वारा अत्याचार के विरुद्ध आवाज़ उठाना आरम्भ किया। 





भारतीय स्वतन्त्रा संग्राम के लिए संघर्ष।


साउथ अफ्रीका से लौटने के बाद गाँधी जी कांग्रेस से जुड़ गए और भारतीयों पे हो रहे अंग्रेज़ो द्वारा अत्याचारों पे अपने विचार व्यक्त किये। महात्मा गाँधी ने अंग्रेजी हुकूमत से स्वतन्त्रा दिलाने के लिए कई आंदोलन किये। 



चंपारण और खेड़ा

असहयोग आन्दोलन

स्वराज और नमक सत्याग्रह (नमक मार्च)

दलित आंदोलन और निश्चय दिवस

द्वितीय विश्व युद्ध और भारत छोड़ो आन्दोलन

स्वतंत्रता और भारत का विभाजन


गाँधी जी की मृत्यु | Mahatma Gandhi Death

 ३० जनवरी १९४७ को गाँधी जी नाथूराम गोडसे द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गयी। नाथूराम गोडसे एक कट्टर राष्ट्रवादी नेता थे उनका सम्बन्ध हिन्दू महासभा से भी था। हिन्दू महासभा को गाँधी जी द्वारा देश का विभाजन बिलकुल भी पसंद नहीं था। उन्होंने गाँधी जी को देश का विभाजन करके देश को कमजोर करने का आरोप भी लगाया था। बाद में गाँधी जी के हत्यारा नाथूराम गोडसे और उसके सेह सहयोगी नारायण आप्टे को कोर्ट में  केश चलाकर फांसी की सजा दी गयी। राज घाट को गाँधी जी के स्मृति स्थल के रूप में जाना जाता है। 



महात्मा गांधी के सिद्धांत | Principles Of Gandhiji

  • सत्य 

  • अहिंसा 

  • शाकाहारी रवैया 

  • ब्रह्मचर्य 

  • सादगी 

  • विश्वास



महात्मा गांधी की पुस्तकों के नाम


  • हिंद स्वराज

  • सत्य के प्रयोग (आत्मकथा)

  • दक्षिण अफ्रीका के सत्याग्रह का इतिहास

  • गीता माता

  • सम्पूर्ण गांधी वाङ्मय


FAQ


Q : महात्मा गांधी का जन्म कब हुआ ?

Ans : 2 अक्टूबर 1869 को

Q : महात्मा गांधी कौन सी जात के थे ?

Ans : गुजराती

Q : महात्मा गांधी के अध्यात्मिक गुरु कौन थे ?

Ans : श्रीमद राजचंद्र जी

Q : महात्मा गांधी की बेटी का नाम क्या था ?

Ans : राजकुमारी अमृत

Q : महात्मा गांधी ने देश के लिए क्या किया ?

Ans : भारत को आजादी दिलाने में विशेष योगदान रहा था.

Q : महात्मा गांधी का जन्म कहां हुआ था ?

Ans : गुजरात के पोरबंदर में हुआ था.

Q : महात्मा गांधी की मृत्यु कब हुई ?

Ans : 30 जनवरी 1948 को

Q : महात्मा गांधी ने कौन सी पुस्तक लिखी थी ?

Ans : हिन्द स्वराज : सन 1909 में

Q : महात्मा गांधी द्वारा लिखी गई आत्मकथा क्या है ?

Ans : सत्य से संयोग नामक आत्मकथा महात्मा गांधी द्वारा लिखी गई है.


Tags

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !