Beti Bachao Beti Padhao 2024

Admin
0


Beti Bachao Beti Padhao




Beti Bachao ,Beti  padhao

दोस्तों आज के समय में बेटियाँ हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है और सफलता प्राप्त कर रही ह।  चाहे वो राजनीती हो,खेल हो,अंतरिक्ष हो ,या अन्य कोई सा भी क्षेत्र हो बेटियाँ हर क्षेत्र में उन्नति क्र रही है।  देश के विकास में बेटियाँ कंधो से कंधा मिलाके चल रही है। परन्तु आज भी बहोत से क्षेत्रों में बेटियों को बोज समझा जाता है। बेटे और बेटियों में भेदभाव किया जाता है। बेटे के होने पर खुशियाँ मनाई जाती और बेटी के होने पर परिवार पे भोज समझा जाता है। समाज के कुछ क्षेत्रो में होने वाले इस भेदभाव को दूर करने के लिए सरकार द्वारा समय समय पर इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाता है। इसी में से एक अभियान है, Beti Bachao ,Beti  padhao । आज हम इस आर्टिकल में Beti Bachao ,Beti  padhao अभियान के बारे में विस्तार से जानेंगे। 


बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम क्या है?

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना 2011 की जनगणना में सामने आए खराब बाल लिंगानुपात से निपटने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है। भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने बेटी बचाओ बेटी पढाओ नाम से लड़कियों के लिए एक योजना शुरू की है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य पूरे भारत में बालिकाओं को बचाना और बालिकाओं को शिक्षित करना है। यह कार्यक्रम 22 जनवरी, 2015 को पानीपत, हरियाणा में शुरू किया गया था।


बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (Beti bachao beti padhao scheme) के मुख्य बिंदु

  • Beti Bachao,Beti Padhao Yojana को सरकार द्वारा चरणबद्ध तरीके से लागू किया गया। प्रथम चरण में सरकार द्वारा 100 जिलों में इसे लागु किया गया। 
  • सरकार द्वारा बेटियों के अधिकार के प्रति जागरूक करने के लिए समय समय पर beti bachao beti padhao poster भी जारी किये जाते है, जिसे अलग अलग माध्यम से दिखाया जाता है। इससे समाज में बेटियों के प्रति जागरूकता फैलाई जा सके। 
  • चयनित जिलों में 23 राज्यों के 87 जिलें ऐसे थे, जिनका लिंगानुपात राष्ट्रिय लिंगानुपात से कम था।
  • और 8 राज्यों के 8 ऐसे जिलों में विशेष ध्यान दिया गया जहाँ लड़कियों के जन्म की दर में कमी आयी थी। 
  • सरकार द्वारा 5 ऐसे जिलों का चयन भी किया जिन्हे उदहारण के रूप में (मॉडल) पेश कर सकें। 
  • इन पांच जिलों में बहुत अच्छे परिणाम देखने को मिले। इन जिलों में लिंगानुपात में काफी बृद्धि देखने को मिली। 
  • अगले चरण में सरकार द्वारा 11 राज्यों में से 61 ऐसे जिलों का चयन किया गया जहाँ का लिंगानुपात 918/1000 से काम था। 


Beti Bachao Beti padhao objectives 

  • Beti bachao beti padhao yojana सरकार द्वारा समाज में केवल जागरूकता फ़ैलाने के लिए शुरू की गयी एक योजना है। जिसके अंतर्गत सीधे तौर पर आर्थिक लाभ नहीं मिलता है। 
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में सरकार द्वारा लड़कियों के साथ होने वाले भेदभाव वाले रवैये को समाप्त करना है।
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ में सरकार द्वारा बेटियों के जन्मोत्सव में 5 पौधों का बृक्षारोपण के लिए बढ़ावा दिया जाना है।
  • बेटियों की शिक्षा पर विशेष ध्यान देना है। जिससे कोई भी बेटी निरक्षर न रह जाए।
  • समाज में बेटियों को जिम्मेदार बनाकर उनकी भागीदारी सुनिश्चित कराना है।
  • बेटियों के प्रति समाज में होने वाले लैंगिक भेद को समाप्त करना है।
  • बालिकाओं के होने वाले शोषण से बचाना व सही गलत का ज्ञान कराना।

Beti bachao beti padhao अंतर्गत शुरू की गयी योजनाएं

Beti bachao beti padhao योजना का सीधा सम्बन्ध किसी पैसे या अन्य जमा से नहीं है। इसमें सरकार का मुख्य उदेश्य समाज में लड़कियों के प्रति जागरूकता जागृत करना है। लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से अन्य योजनाओ को BBBP के तहत लाया गया है जिनके द्वारा बेटियों के भविष्य को लेकर कुछ सेविंग के लिए प्रेरित (Motivate) हो। ऐसी ही कुछ प्रमुख योजनाएँ निम्न है। 

इन योजनाओं में सुकन्या समृद्धि, लाड़ली लक्ष्मी योजना, बालिका समृद्धि योजना, व धनलक्ष्मी योजना आदि प्रमुख है। इन सभी योजनाओं में से सुकन्या समृद्धि योजना को सरकार द्वारा Beti bachao beti padhao योजना को ध्यान में रखते हुए लाया गया है। इसके तहत 0 से 10 वर्ष तक की लड़की का इसमें खाता खुलवावा जाता है। कुल 14 वर्ष तक मासिक या सालाना पैसा जमा किया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप यहां क्लिक कर सकते है। 


Beti Bachao Beti Padhao जमा योजनाओं हेतू आवश्यक दस्तावेज

बेटियों का भविष्य सुरक्षित रहे, उनकी पढाई – लिखाई पूरी हो, एवं किसी भी भेदभाव की शिकार न हो इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा बेटियों के भविष्य के लिए विशेष जमा योजनाए शुरू की है। Beti ke bhavishy के लिए अभिभावकों को जमा के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा कुछ विशेष योजनाए शुरू की है।


इन योजनाओं में कुछ निम्न है, जैसे – तो सुकन्या समृद्धि, लाड़ली लक्ष्मी योजना, बालिका समृद्धि योजना, व धनलक्ष्मी योजना जैसी योजनाएं शुरू की गयी है। आप इन योजनाओ के तहत खाता खुलवाने के लिए नजदीकी बैंक व पोस्ट ऑफिस जाकर खुलवा सकते है। जिनके लिए आपको (माता पिता के) निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

आपके पास आधार कार्ड होना चाहिए।

पेन कार्ड की प्रति।

नवीनतम फोटोग्राफ।

एक्टिव मोबाइल नंबर।

मतदाता पहचान पत्र।

सरकारी विभाग द्वारा जारी ईद


How to apply for Beti Bachao Beti Padhao yojana 

यदि आप Beti Bachao Beti Padhao yojana के लिए आवेदन करना चाहते है, तो आप नीचे दिए प्रोसेस को फॉलो करके इसका लाभ उठा सकते है।

Beti Bachao Beti Padhao scheme का लाभ लेने के लिए आप सबसे पहले भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।

होम पेज पर आने के बाद आप वूमेन एम्पावरमेंट स्कीम विकल्प पर क्लिक करें।

वूमेन एम्पावरमेंट स्कीम विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज आ जायेगा।

नए पेज पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ से संबधित सभी नए अभियान व योजनाओं के बारे में आपको विस्तार से जानकारी मिल जाएगी।

यहां आपको सम्पूर्ण विज्ञापन मिल जायेगा। विज्ञापन हिंदी व इंग्लिश दोनों भाषाओँ में उपलब्ध करवाया है। आप इसका सम्पूर्ण अध्यन करके योजना का लाभ उठा सकते है।



Beti Bachao Beti Padhao  हेल्पलाइन नंबर / टोल फ्री नंबर

टोल फ्री नंबर 011-23388612

ईमेल आईडी pallavi.agarwal@gov.in

कांटेक्ट लिंक click here



Beti Bachao Beti Padhao Logo

Beti Bachao Beti Padhao Logo


Frequently Asked Question Beti Bachao Beti Padhao


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !